एक और बैंक आ गई आरबीआई के सर्विलेंस पर|

आरबीआई ने लक्ष्मी विलास बैंक को ‘त्वरित
सुधारात्मक कार्रवाई की श्रेणी में रखा
निजी क्षेत्र के लक्ष्मी विलास बैंक ने बताया है कि लगातार
दो साल तक परिसंपत्तियों पर नकारात्मक रिटर्न और फंसे
हुए कर्ज़ (एनपीए) के कारण आरबीआई ने उसे ‘त्वरित
सुधारात्मक कार्रवाई’ (पीसीए) की श्रेणी में रख दिया है।
दरअसल, पीसीए के तहत बैंकों पर बड़े कर्ज देने और ब्रांच
विस्तार पर रोक लगाने समेत अन्य पाबंदियां लगाई जाती